30,875 IVF Pregnancies

Blogs

पुरुष इनफर्टीलिर्टी: आपके सोचने से अधिक सामान्य

ऩुरुष इनपर्टीलरर्टी एक ऐसी सभस्मा है जजसे नजयअदॊाज कय ददमा जाता है, खासकय बायत भें. ऩयन्तु सत्म मह है कक रगबग 3 भें से 1 दम्ऩतत के फच्चा नहीॊ होने के भाभरे भें कायण वह होता है जजसे ‘भेर पेक्र्टय’ कहा जाता है. | जफ कक इसके ऩीछ फहुत से कायण होते हैं, जजसका एक प्रबाव होता है: ऩुरुष साथी ऩमााप्त कायगय स्ऩम्सा उत्ऩन्न कयने भें असभथा यहता है जजससे ऩत्नी के अडॊे पर्टीराइज ककमे जा सकें|

स्ऩम्सा इतनी कभ सख्ॊमा भें, तनजरिम मा लभस हेऩन, अथवा ब्रोकेजेज होते हैं जो स्ऩभा की डडरीवयी कयने भें फाधक फनते हैं. इस ववववधता के कायण: वेयीकोलसर (नसों की सूजन), वीमा की असाभान्मता, हायभोतनमर असॊतुरन, ब्रोकेजेज, कुछ फीभारयमाॊ एवॊ जीवनचमाा के भाभारों भें दवा रेना (तनाव एवॊ धुम्रऩान)|

मदद कायण बौततक रूकावर्ट है, भाइिो सजयाी इस जस्थतत को सुधाय सकती है| दूसये उऩचायों भें वाइब्रेर्टय अथवा इरक्ैर्टो-एजीक्मूरेशन का इस्तभेार कयते हुए IVF के लरए स्ऩभा एकत्रीकयण सजम्भलरत है|

सफसे साभान्म ऩुरुष इनपर्टीलरर्टी तयीका ओरयगोजूसऩयलभमा—एक रो स्ऩभा काउन्र्ट का है. इस एजूसऩयलभमा का एक अततयेकी भाभरा है, स्ऩभा की तनतान्त अनुऩजस्थतत, ऩरयणाभ भें शून्म स्ऩभा काउॊर्ट. ववलशरर्ट रूऩ से इन दोनों भें ववशषेऻता के उऩचाय की जरुयत होती है. एजूस्ऩयलभमा भें र्टेस्र्टीज भें से सीधे स्ऩम्सा तनकारने की आवश्मकता होती है, श्रेरर्ट को ऩृथक कयना, एडवान्स तकनीक से सफसे अधधक किमाशीर औय स्वस्थतभ स्ऩभा रेने की आवश्मकता होती है. इनका इस्तभेार ICSI के लरए हो सकता है ताकक गबााधान कयामा जा सके. मदद कोई उऩमोगी स्ऩभा नहीॊ है, दम्ऩतत दानदाता के स्ऩम्सा का इस्तभेार कय गबधाायण कय सकता है|

जफ कक आऩकी सहामता के लरए भेडडकर एवॊ सजीकर ववधधमाॊ है, ऐसे उऩाम बी हैं जजनके द्वाया आऩ स्वमॊ की सहामता कय सकते हैं औय अऩने स्ऩभा काउॊर्ट भें फढोतयी कय सकते हैं|

अऩने स्ऩभा काउॊर्ट को कैसे फढा सकते हैं: बोजन एवॊ आदतें जो आऩकी सहामता कय सकती हैं

हाॉ, स्ऩभा काउॊट्स एवॊ स्ऩभा स्वास््म को फढा सकते हैं, ऩयन्तु इसभें सभम रगता है, उल्रेखनीम जीवनचमाा ऩरयवतना औय सभऩणा| \

इससे ऩहरे कक हभ इस फात ऩय आमें कक आऩ क्मा कय सकते हैं, सभम जो मह रेगा ऩय ध्मान देना भहत्वऩूणा है. भानव शयीय ववशषे रूऩ से नए स्ऩभा फनाने भें 72 घर्टॊे का सभम रेता है—इसलरए आऩको ऩरयवतना राने के लरए दो भहीनों का इन्तजाय कयने की आवश्मकता है. ददखनेवारे प्रबाव इससे बी अधधक सभम रे सकते हैं |

जीवनचमाा ऩरयवतना :- 

मदद आऩ धूम्रऩान कयते हैं, तो योक दें. अफ. तम्फाकू का इस्तभेार एस्थेनोजूसऩेरयभा (रो स्ऩभा भोर्टेलरर्टी), ववकृतत(डडपोम्डा) औय कभजोय स्ऩभा के साथ गुणसूत्र(िोभोसोम्स) के आनुवॊलशक(जेनेदर्टक) ऺतत से जुडा हुआ है. मह सफसे भहत्वऩूणा फातों भें से एक है, जजस ऩय जागरुकता होनी चादहए. अतएव धूम्रऩान योक दें!
मदद आऩ शयाफ का अधधक सवेन कयते हैं, तो आऩ इसकी भात्रा को कभ कय दें. शयाफ का अधधक सेवन आऩके सेक्चुअर ऺभता को प्रबाववत कय सकता है. कबी कबाय शयाफ का सेवन आऩके उत्ऩादक ऺभता को ऺतत नहीॊ ऩहुॉचाता है, ऩयन्तु अत्मधधक तथा अॊधाधुन्ध शयाफ ऩीने से फचे|

औय अन्त भें, अत्मधधक तगॊ अडॊयववमय न ऩहने – चूॉकक र्टेस्र्टीज, स्ऩभा उत्ऩन्न कयने के लरए जजम्भेदाय होते हैं, ठॊडे वातावयण की जरुयत है|

स्ऩभा सुऩयपूड्स :- 

साभान्म पेट्स के अरावा, प्रोर्टीन्स औय काफोहाइड्रर्टेस, स्वस्थ स्ऩम्सा के लरए ववलशरर्ट प्रकाय के ऩोषक एवॊ खतनजों की आवश्मकता होती है. क्मोंकक स्ऩम्सा फहुत अधधक सवॊेदनशीर होते हैं कक क्मा खामें औय सही प्रकाय का बोजन रेना उनके स्वास््म औय कामशाीरता को प्रबाववत कयते हैं|

महा कुछ आवश्मक ऩोषक तथा उनके स्रोतों की जानकायी दी जा यही है:- 

कोएन्जाइभ क्मू10 :- 

एक पेर्टी भोरीक्मूर जो कोलशकाओॊ को ऊजाा प्रदान कयता है औय एर्टॊीओक्सीडर्टें का कामा कयता है. श्रेरर्ट खुयाक को स्रोत भाॊस एव रीवय, ओलरव, अॊगूय एवॊ सोमा तरे; फहुत से नट्स, जजसभें भूॉगपरी सदहत तथा सजब्जमाॊ मथा ब्रोकोरी, ऩारक औय एवोकैडो|

पोरेर्ट :- 

वे सबी सजब्जमाॊ आवश्मक ऩोषण को लरए जरूयी हैं. जैसे कुछ दारें, सभे औय भर्टय कुछ प्रकाय हैं|

एर-अजजनाीन :-

साभान्मतमा शयीय द्वाया उत्ऩन्न होती है. मह हायभोन्स उत्ऩन्न कयने भें सहामक है. जफकक सवश्राेरर्ट स्रोत भासॉ एव डमेयी उत्ऩाद, अनेक नट्स भें बी ऩोषकता अच्छी भात्रा भें होती हैं|

एर-कानीर्टीन :-

एक एभीनो एलसड जो भोर्टाऩे को दूय कयता है औय उसे सेल्मूरय ऊजाा भें फदर देता है. इसभें एॊर्टीओक्सीडेंर्ट के गुण होते हैं. प्रभुख रूऩ से भाॉस, डयेी उत्ऩादों, एवोकाडो तथा एसऩयगस भें ऩामा जाता है|

लसरेतनमभ :- 

स्ऩभा को भजफूत फनाकय स्रक्चरा ववकास भें एक तत्व की बूलभका अहभ है. ब्राजीर नट्स, शतावयी, कुछ भशरूभ, भछरी औय भाॊस सफसे अच्छा स्रोत हैं|

ववर्टालभन ई :-

ऊजाा उत्ऩन्न कयने भें सहामक हैं, मह ववर्टालभन एॊर्टीओक्सीडेंर्ट बी हैं. फहुतसे तरेों, नट्स, हयी सब्जी औय भछरी भें लभरता है|

ववर्टालभन सी :-

एक शजक्तशारी एॊर्ट-आक्सीडेंर्ट तथा सम्ऩूणा स्वस््म के लरए आवश्मक, मह अधधकाॊश भें परों, ववशषेकय साइरस पर भें ऩामा जाता है|

जजॊक :-

ऩुरुष हायभोन्स, र्टेस्र्टोस्र्टेयोन, उत्ऩन्न कयने के लरए आवश्मक है, मह सी-पूड, भाॉस, ओट्स, ततर एवॊ मोगार्टा भें ऩामा जाता है|

एक पूड भें साये आवश्मक घर्टक होते है वह है एसऩयागस—जो एफ्रोडाइजस्र्टक है जो प्राचीन बायतीम ऩोधथमों से जाना गमा है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *